Thursday, 7 May 2015

wonders of water: Health benefits of drinking water from a copper vessel (धरती का अमृत पानी: ताम्र जल पीएं, भरपूर जीवन जीएं! )

  
   Wonders Of Water: Health Benefits Of Drinking Water From A Copper Vessel   

   धरती का अमृत पानी: ताम्र जल पीएं,भरपूर जीवन जीएं!   


यह माना जाता है कि तांबे के बर्तन में रखे पानी में जीवाणुरोधी ,एंटीऑक्सीडेंट, कैंसररोधी, और एंटीइन्फ्लेमेटरी गुण स्वतः ही आ जाते हैं| आयुर्वेद के अनेक प्राचीन ग्रंथों में अलग-अलग प्रकार के बर्तनों में रखे पानी का उपयोग करने का वर्णन किया गया है तथा तांबे के बर्तन में रखे पानी को शरीर के लिए बहुत गुणकारी बताया गया है. वर्ष 2012 में हुए एक शोध में यह पता चला कि सामान्य तापमान पर तांबे के बर्तन में 16 घंटे तक रखने पर दूषित पानी में मौजूद हानिकारक जीवाणुओं की संख्या में कमी आ गई थी|तांबे के बरतन में रखा पानी हमारे जीवन के लिए वरदान के समान होता है। इस पानी से शरीर के विषैले तत्त्व बाहर निकल जाते हैं और धातु में रखे पानी में शरीर के तीनों दोषों जैसे वात, कफ और पित्त को संतुलित करने की क्षमता होती है| 
हम में से ज्यादातर लोगों ने अपने दादा-दादी से तांबे के बरतन में संग्रहीत पानी पीने के स्वास्थ्य लाभों के बारे में सुना होगा। पहले के लोग रात को तांबे के बरतन में पानी भर कर रख दिया करते थे और सुबह-सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करते थे इसी कारण हमारी दादी नानी के ज़माने के लोग आज की पीढ़ी से कहीं ज्यादा स्वस्थ और बलिष्ठ होते थे | कुछ लोग तो आज भी पानी पीने के लिए विशेष रूप से तांबे से बने गिलास और जग का उपयोग करते हैं। 
तो आइए तांबे के बरतन में रखा पानी पीने के बेहतरीन लाभों के बारे में जानें-
    1. बैक्टीरिया समाप्त करने में मददगार :                                                                  
तांबे के बरतन में रखे पानी के सेवन से बैक्टीरिया को आसानी से नष्ट किया जा सकता है। तांबा आम जल जनित रोग जैसे डायरिया, दस्त और पीलिया को रोकने में मददगार माना जाता है। जिन देशों में अच्छी स्वच्छता प्रणाली नहीं है उन देशों में तांबा पानी की सफाई के लिए सबसे सस्ते समाधान के रूप में पेश आता है।

    2. थायराइड ग्रंथि की कार्यप्रणाली पर नियंत्रण :                                                         
थायरेक्सीन हार्मोन के असंतुलन के कारण थायराइड की बीमारी होती है। कॉपर थायरायड ग्रंथि के बेहतर कार्य करने की जरूरत का पता लगाने वाले सबसे महत्त्वपूर्ण मिनरलों में से एक है। तांबे के बरतन में रखे पानी को पीना शरीर में थायरेक्सीन हार्मोन नियंत्रित होकर इस ग्रंथि की कार्यप्रणाली को भी नियंत्रित करता है।

    3. मस्तिष्क को उत्तेजित करता है :                                                                         
तांबे में मस्तिष्क को उत्तेजित करने वाले और विरोधी ऐंठन गुण होते हैं। इन गुणों की मौजूदगी मस्तिष्क के काम को तेजी और अधिक कुशलता के साथ करने में सहायता करती है और आपके मस्तिष्क को कियाशील बनाती है | तांबे के पानी का निरंतर उपयोग करने से आपकी स्मरण शक्ति तेज होती है |
    4. निर्जलीकरण से बचाव:                                                                                    

कई घंटे सोने के बाद जब हम जागते हैं तो शरीर में पानी की कमी हो जाती है इसलिए सुबह-सुबह तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना चाहिए | सुबह तांबे के बर्तन का  पानी पीने से रात भर की पानी की कमी पूरी हो जाती है और साथ ही शरीर चुस्त महसूस करता है, इससे मूड भी अच्छा रहता है|


    5. शरीर की सफाई :                                                                                             

सुबह सुबह उठ कर तांबे के बरतन में रखा पानी पीने से शरीर में पैदा हुए अनचाहे हानिकारक तत्व निकल जाते हैं| जब हम सोते हैं तो शरीर में मरम्मत का काम चल रहा होता है, इसमें कई हानिकारक तत्व भी निकलते हैं अतः तांबे के बरतन में रखा पानी पीने से ये तत्व पानी में घुल कर नष्ट हो जाते हैं | इन तत्वों के धुल जाने से त्वचा साफ और चमकदार होती है|


    6. नए ऊतकों का निर्माण :                                                                                   

आप सभी जानते हैं कि खून का 83 फीसदी हिस्सा पानी से बना होता है. कोशिकाओं में पानी की मात्रा करीब 75 फीसदी होती है. सुबह पानी पीने से शरीर में खून और नई कोशिकाओं के बनने की प्रक्रिया बढ़ती है और यदि आप तांबे के बरतन में रखा हुआ पानी पीते है तो नयी कोशिकाओं को बनाने की प्रक्रिया शरीर तेजी से करता है|

  
     7. गठिया और जोड़ों की सूजन को दूर करें :                                                             

जोड़ों में दर्द और गठिया की शिकायत होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीने से लाभ मिलता है। तांबे के रखे बर्तन में ऐसे गुण आ जाते है जिससे बॉडी में यूरिक एसिड कम हो जाता है और गठिया की समस्‍या भी दूर हो जाती है।



    8. त्‍वचा को स्‍वस्‍थ बनाएं :                                                                                    

तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल त्‍वचा को चमकदार बनाता है। तांबे के पानी में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो हमारी त्वचा के लिए बहुत लाभदायक होते हैं अतः  त्‍वचा को चमकदार बनाने के लिए सुबह-सुबह उठकर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीना चाहिए |



    9. बढ़ती उम्र को धीमा कर दें :                                                                                

उम्र बढ़ने से सभी परेशान रहते है, हर कोई चाहता है कि उसकी बढ़ती उम्र की निशानियां छुपी रहें, अगर आप भी ऐसा ही चाहते है तो तांबे में जल को रखकर पिएं। तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से झुर्रिया, त्‍वचा का ढीलापन आदि दूर हो जाता है। इस प्रकार के जल को पीने से मृत त्‍वचा निकल जाती है और नई त्‍वचा आ जाती है।  

  

    10. पाचन क्रिया दुरूस्‍त करें :                                                                                

एसिडिटी या गैस या पेट की कोई अन्‍य साधारण समस्‍या होने पर तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीने से आराम मिलता है। आर्युवेद के अनुसार, अगर आप अपने शरीर से विषाक्‍त पदार्थो को बाहर निकालना चाहते है तो तांबे के बर्तन में कम से कम 8 घंटे रखा हुआ जल पिएं, इससे राहत मिलेगी और समस्‍याएं भी दूर होगी



    11. वजन घटाने में सहायक :                                                                               

अगर कोई भी व्‍यक्ति, वजन घटाना चाहता है तो उसे तांबे के बर्तन में रखा हुआ पानी पीना चाहिये, इस पानी को पीने से बॉडी को एक्‍ट्रा फैट कम हो जाता है और शरीर में कोई कमी या कमजोरी भी नहीं आती है। शरीर में तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पहुंचने से आराम मिलता है।



    12. खून की कमी को दूर करें :                                                                             

कॉपर के बारे में यह तथ्‍य सबसे ज्‍यादा आश्‍चर्य प्रदान करने वाला है कि यह शरीर की अधिकांश प्रक्रियाओं में बेहद आवश्‍यक होता है। यह शरीर के लिए आवश्‍यक पोषक तत्‍वों को अवशोषित करने का काम करता है। तांबे के बर्तन में रखे पानी को पीने से खून की कमी या विकार दूर होता है।


    13. दिल को स्‍वस्‍थ बनाएं और हाइपरटेंशन दूर करें :                                                   

यदि कोई व्‍यक्ति दिल के रोग से ग्रसित है या उसे हार्ट की किसी भी प्रकार की समस्‍या है तो वह तांबे के जग में रात को पानी रख दें और उसे सुबह उठकर पी लें। इससे उसे काफी स्‍वास्‍थ्‍य लाभ मिलेगा। तांबे के बर्तन में रखे हुए जल को पीने से पूरे शरीर में रक्‍त का संचार बेहतरीन रहता है। दिल की बीमारियों में और बातें बोल्‍डस्‍काई पर जानें।



    14. कैंसर से लड़ने में सहायक :                                                                            


कैंसर होने पर हमेशा तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल पीना चाहिये, इससे लाभ मिलता है क्‍योंकि तांबे के बर्तन में रखा हुआ जल वात, पित्‍त और कफ की शिकायत को दूर करता है। इस प्रकार के जल में एंटीऑक्‍सीडेंट भी होता है जो इस रोग से लड़ने की शक्ति प्रदान करता है। अमेरिकन कैंसर सोसायटी के अनुसार, कॉपर कई तरीके से कैंसर मरीज की हेल्‍प करती है, यह धातु लाभकारी होती है जिसमें रखा हुआ पानी सबसे ज्‍यादा लाभ प्रदान करता है। यह एंटीकैंसर इफेक्‍ट प्रदान करता है।


    15. भूख को बढाए आपको रखे स्वस्थ :                                                          

जब आप सुबह-सुबह तांबे के पात्र में रखा पानी पीते हैं तो आपका पेट साफ हो जाता है, जब आपका पेट साफ़ हो जायेगा तो आपको भूख भी बहुत जोरों की लगेगी और इस प्रकार से जब आपको भूख लगेगी तो   इससे आपका सुबह का ब्रेकफास्‍ट अच्‍छा होगा और आपका दिन बेहद सुखमय व्यतीत होगा|


    17. सिरदर्द को दूर करे :                                                                                         

कई बार हमारे शरीर के अंदर पानी की कमी ही वजह से सिर में दर्द शुरु हो जाता है तथा यह सिरदर्द किसी भी दवाई से ठीक नहीं होता है , लोग जानकारी के आभाव में डॉक्टरों के पास जाते हैं और उनको फर भी कोई ख़ास फायदा नहीं पहुंचता हैं  इसलिये कोशिश करें कि सुबह-सुबह खाली पेट तांबेके पात्र में रखा हुआ पानी पियें इससे आपको तुरंत ही फायदा महसूस होगा|


    18. मेटाबॉलिज्‍म को बढाए:                                                                                    

आप सभी जानते हैं की खाने को पचाने के लिए पानी कितना महत्वपूर्ण तत्व है | पानी पीने से आपके शरीर का मेटाबॉलिज्‍म 24 प्रतिशत तक बढ सकता है। अतः यदि आप एक दिन में लगभग आठ गिलास तांबे के बरतन में रखा हुआ पानी पियेंगे तो आप खाने को जल्‍द पचा सकेगें और इसी के साथ थोडा वजन भी कम कर सकेगें।


    19. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाए:                                                            

जैसा कि आप सभी जानते हैं शरीर को बैलेंस करने के लिये पानी अति आवश्‍यक तत्‍व है। और यदि यह पानी तांबे के बरतन में रखा हुआ पानी हो फिर तो सोने पे सुहागा जेसी बात हो | ताम्र पात्र का पानी पीने से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है और शरीर रोग से लड़ने के लिए पूर्णतः तैयार हो जाता है |

पानी की इतनी महत्त्वता होने के कारण पानी हमारी पृथ्वी की एक जरूरी जरूरत है, यही कारण है कि सौरमण्डल के तमाम ग्रहों में केवल पृथ्वी पर ही जीवन की उत्पति हुई है। हमारी पृथ्वी के लगभग 70 प्रतिशत भाग में पानी ही पानी है।

Show Comments: OR
Comments
0 Comments
Facebook Comments by

0 comments:

Post a Comment