Friday, 4 March 2016

How to make Singhare ki barfi (Chestnut flour cake) : सिंघाड़े की बर्फी / सिंघाड़ा कतली बनाने की विधि : शिविरात्रि के दिन बनाइये सिंघाड़े की बर्फी, जो है शंकर जी को प्रिय |


मेरे घर में हर साल शिवरात्रि के दिन सिंघाड़े से बनी हुई कोई न कोई डिश जरूर बनाई जाती है, क्योंकि सिंघाड़ा शिवजी की फेवरेट डिश मानी जाती है । मेरी दादी कहती हैं इस दिन शिव जी को सिंघाड़े का भोग लगाया जाता है और फिर वही प्रसाद वृत रखने वाले लोगों को दिया जाता है | हमारे यहाँ शिवरात्रि के दिन सिंघाड़े के आटे से ही सिंघाड़े की मीठी बर्फी / कतली बनायीं जाती है। जो खाने में बहुत ही स्वादिष्ट और पौष्टिक भी होती है। सिंघाड़े की मीठी बर्फी व्रत के लिए एक बहुत ही अच्छी डिश है और यह बर्फी उन सभी लोगो के लिए एक बहुत ही अच्छा विकल्प है जो व्रत में सैंधा नमक का भी प्रयोग नही करते है। तो आइये शिवरात्री पर सिघाड़े के आटे की मीठी बर्फी/कतली  बनायें|  
        आवश्यक सामग्री (Ingredients For Singhare ki meethi Burfi / Katli Recipe) :                            
üसिघाड़े आटा (Singhara Ka Atta)              -                       1 कप
üघी (Ghee)                                               -                       2-3 चम्मच
üचीनी (Sugar)                                           -                       आधा कप
üपानी (Water)                                            -                      डेढ़ कप
üइलाइची पाउडर(Cardamom Powder)       -                      1 चम्मच
üगरी (Dry Coconut)                                   -                      2 चम्मच (कद्दूकस की हुई)
üसूखे मेवे                                                     -                      आवश्यकतानुसार

        विधि (How To Make Singhare ki meethi Burfi / Katli Recipe) :                                             


ïसिंघाड़े की मीठी बर्फी बनाने के लिए सबसे पहले एक कढाही में 2 चम्मच घी डाल कर गरम करने के लिए गैस पर रखें।
ïअब घी में सिघाड़े का आटा डाल कर हल्का गुलाबी होने तक भून लें।
ïइसके बाद भुने हुये सिंघाड़े के आटे में डेढ़ कप पानी और चीनी डालकर चमचे से लगातार चलाते हुए मिलाये।
 ïकरीब 3-4 मिनट के बाद आप देखेंगें कि सिघाड़े का पतला घोल गाढ़ा हो रहा है।
ïथोड़ी ही देर के बाद यह घोल बिल्कुल हलुए जैसा गाढ़ा हो जायेगा।
ïअब गैस बंद कर दें और एक थाली में थोड़ा घी लगा कर चिकना कर लें और सिंघाड़े की बर्फी को थाली में डालकर पतला फैला कर जमा लें |
ïजब बर्फी अच्छी तरह से ठंडी हो जाए तब सिंघाड़े की बर्फी को चाकू से अपने मनपसन्द आकार में काट लें |
ïअब बर्फी के पीस पर कद्दूकस की हुई से गार्निश करके सर्व करें।

ïस्वादिष्ट सिंघाड़े की मीठी बर्फी (Singhare ki meethi Burfi / Katli) बनकर तैयार है। शिवरात्रि के पावन अवसर पर आप इसे बनाइये और इसका लुत्फ़ उठाइए |

        सावधानियां:                                                                                                                           
[सिंघाड़े के आते को ज्यादा न भूने , क्योंकि यदि आपका आटा ज्यादा भुन जायेगा तो उसमें थोड़ी कडवाहट आ सकती है |
[जब सिंघाड़े का आटा गढ़ा होने लगे तब आप तुरंत गैस बंद कर दें , क्योंकि यदि आता ज्यादा गधा हो जायेगा तो उसकी बर्फी नहीं बनेगी |
इसे भी देखें :-Chocolate Sandesh Recipe:How to make chocolate sandesh

Show Comments: OR
Comments
0 Comments
Facebook Comments by

0 comments:

Post a Comment