Tuesday, 26 July 2016

Bow Pose (Dhanurasana) Steps, Health Benefits and Precautions : धनुरासन योग: धनुरासन करने की विधि, लाभ और सावधानियाँ

योगा एक ही बहुत ही लाभकारी और स्‍वास्‍थ्‍य वर्धक व्‍यायाम है। हम सभी जानते हैं कि इस तरीके का व्‍यायाम ना केवल हमारे दिमाग, मस्‍तिष्‍क को ही ताकत पहुंचाता है बल्कि हमारी आत्‍मा को भी शुद्ध करता है। योगा करने से शरीर मजबूत होता है, मासपेशियां टोन होती हैं और सबसे जरुरी कि यह मोटापा भी घटाता है। योगा ना केवल भारत में ही किया जाता है बल्कि यह विदेशों में भी बडा़ पॉपुलर हो चुका है और इसे वहां तक पहुंचाने वाले इंसान थे हमारे स्‍वामि विवेकानंद जी। आज हम आपको धनुरासन के बारे में बताने जा रहे हैं | धनुरासन में हमारा शरीर धनुष की तरह खिंचता है इसलिए इसे धनुरासन कहा जाता है |

        धनुरासन की विधि-                                                                                  



1. सर्वप्रथम जमीन पर दरी बिछाएं।

2. अब पेट के बल लेटें।
3. धीरे-धीरे घुटनों की एड़ियों को हाथों से पकड़कर पैरों को उपर की तरफ ले जाएं।
4. अब दोनों हाथों से दोनों पैरों को पीछे की तरफ खीचें। और श्वांस अंदर खीचें।
5. अपनी क्षमता के अनुसार सिर और जांघो को उपर की तरफ उठाने की कोशिश करें।
6. यह आसन 10 से 25 सेकंड तक करें और धीरे-धीरे इसके समय को बढ़ाएं।
7. इस आसन की अवस्था में आपको लंबी सांसे लेनी है और छोड़नी है।
8. जो लोग जांघो को नहीं उठा सकते हैं वे केवल अपना सिर उठाएं। 
9. धीरे-धीरे सांस को छोड़ते हुए वापस पेट के बल वाली अवस्था में आएं।
        क्या-क्या लाभ है धनुरासन के –                                                                  
यह आसन शरीर को कई बीमारियों और हड्डीयों से संबंधित समस्याओं से निजात दिलाता है।
1. धनुरासन करने से रीढ़ की हड्डी में लचीलापन आता है।
2. यह आसन रीढ़ की हड्डी के दर्द में लाभदायक होता है।
3. अपच, अजीर्ण और पेट के विकारों को दूर करता है।
4. इस आसन का सबसे बड़ा फायदा है कि यह चर्बी को कम करता है जिस वजह से मोटाप नहीं होता ।
5. यह आसन कंधों और पैरों को मजबूत बनाता है।
6. महिलाओं मे मासिक धर्म से संबंधित रोगों को यह आसन दूर करता है।
        धनुरासन करते समय की सावधानियां  -                                                        
1. गर्भवती महिलाओं को यह योग नहीं करना चाहिए।
2. जिन लोगों को पेट में अल्सर, हर्निया, सिरदर्द, आंतो की समस्या, माइग्रेन, गर्दन पर चोट व हाइ ब्लडपे्रशर की समस्या है वे इस आसन को न करें।
3. वे लोग जिन्हें कमर का दर्द अधिक रहता हो वे इस आसन को बिल्कुल सरलता और आराम से करें।

धनुरासन करने से कई फायदे आपको मिलते हैं लेकिन इसके लिए यह भी जरूरी है कि आप किसी योग विशेषज्ञ की रेख देख में ही आसन को करें। हमारा प्रयास है आपको स्वस्थ बनाए रखना।

Show Comments: OR
Comments
0 Comments
Facebook Comments by

0 comments:

Post a Comment